जम्मू कश्मीर राज्य में विकास परियोजनाओं पर सरकार का जोर | Doonited.India

October 23, 2019

Breaking News

जम्मू कश्मीर राज्य में विकास परियोजनाओं पर सरकार का जोर

जम्मू कश्मीर राज्य में विकास परियोजनाओं पर सरकार का जोर
Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

जम्मू कश्मीर में अनुच्छेद 370 के अधिकांश प्रावधान हटने के बाद कश्मीर में हालात सामान्य बने हुए हैं। बुधवार को सड़कों पर बड़ी संख्या में निजी वाहन उतरे, रेहड़ी-पटरी वालों ने भी अपना सामान्य कामकाज किया। श्रीनगर में सरकारी कार्यालय खुले हैं और दफ्तरों में उपस्थिति सामान्य रही। जिला मुख्यालय के कार्यालयों में सामान्य उपस्थिति रही।

जम्मू कश्मीर में अनुच्छेद 370 हटने के बाद एक ओर जहां हालात सामान्य बने हुए हैं, तो वहीं दूसरी ओर राज्य में विकास परियोजनाओं की बहार है। बुधवार को राज्य में 15 ऊर्जा परियोजनाओं का उद्घाटन हुआ और 20 की आधारशिला रखी गयी। वहीं आतंकवाद के मसले पर पाकिस्तान दुनिया में लगातार अलग थलग पड़ता जा रहा है।

केंद्र सरकार ने कहा है कि जम्मू-कश्मीर में हालात सामान्य हैं। केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावडेकर ने दिल्ली में कैबिनेट की बैठक के बाद कहा कि नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता फारूख अब्दुल्ला को दो दिन पहले ही गिरफ्तार किया गया है इससे पहले वे 35 दिन पूरी तरह मुक्त थे। उन्होंने बताया कि अभी राज्य में मात्र 8 से 9 थानों में ही प्रतिबंध लगा है और बाकी अन्य जगह हालात पूरी तरह ठीक है

इस बीच राज्य में विकास परियोजनाओं पर सरकार का जोर है । बुघवार को केंद्रीय ऊर्जा मंत्री आर के सिंह श्रीनगर में थे । राज्य सरकार और केंद्र सरकार के बीच ऊर्जा से जुडी 3 परियोजनाओं पर समझौते हुए । इसके अलावा 15 परियोजनाएं का उदघाटन किया गया जबकि 20 की आधारशिला रखी गयी । केंद्र और राज्य दोनों ने राज्य के विकास की प्रतिबद्धता जाहिर की है ।

उधर केन्द्रीय लोक निर्माण विभाग यानी सीपीडब्ल्यूडी  को राज्य में ढांचागत विकास से जुड़ी 5000 करोड़ रुपये की परियोजनाओं को पूरा करने की अतिरिक्त जिम्मेदारी सौंपी गयी है। सीपीडब्ल्यूडी जम्मू कश्मीर में पहले से ही पांच हजार करोड़ रुपये की परियोजनाओं को अंजाम दे रहा है  अनुच्छेद 370 को हटाये जाने के बाद एजेंसी को पांच हजार करोड़ रुपये के अतिरिक्त काम मिले हैं।

इस बीच  जम्मू-कश्मीर की सरकार ने पुलिस और सेना में विशेष भर्ती अभियान चलाने का फैसला किया है। इसके तहत यहां लाइट इंफैंट्री रेजिमेंट इस साल भर्ती के लिए उम्मीदवारों की संख्या को दोगुना करने जा रही है। कुल 2,780 पदों पर भर्तियों के लिए रिजनल सेंटर पर 3 और 4 अक्टूबर को रैलियां आयोजित की जाएंगी।

जम्मू कश्मीर के मसले पर भारत को दुनिया का समर्थन भी जारी है। कश्मीर में स्थिति पर यूरोपीय संसद के पूर्ण सत्र में विशेष चर्चा में सांसदों ने आतंकवाद के मसले पर पाक की निंदा की । यूरोपीय सांसद रसजार्ड कजरनेकी और फुल्वियो मार्तुससिएलो ने आतंकवादियों को पनाह देने के लिए पाकिस्तान की निंदा की। इनमें से एक सांसद ने कहा कि जो आतंकवादी भारत में हमले करते हैं, वे चांद पर से नहीं आते। 

पाकिस्तान के परमाणु हथियार का इस्तेमाल करने की धमकी को भी उन्होंने यूरोपीय संघ के लिए चिंता का सबब बताया । उन्होंने पाकिस्तान पर मानवाधिकार उल्लंघनों का आरोप लगाते हुए कहा, ”पाकिस्तान ऐसी जगह है जहां से आतंकवादी यूरोप में खूनी आतंकवादी हमले करने की योजना बना पाए।”

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.

Post source : AGENCY

Related posts

error: Be Positive Be United
%d bloggers like this: