July 31, 2021

Breaking News
COVID 19 ALERT Middle 468×60

आईआईटी रूड़की आधारित एनर्जी स्टोरेज स्टार्ट-अप इंडी एनर्जी में किया निवेश

आईआईटी रूड़की आधारित एनर्जी स्टोरेज स्टार्ट-अप इंडी एनर्जी में किया निवेश


रुड़की: शुरूआती अवस्था के वेंचर निवेश के लिए प्रीमियम स्टार्ट-अप निवेश प्लेटफॉर्म मुंबई एंजल्स नेटवर्क ने इंडी एनर्जी में निवेश किया है। इंडी एनर्जी एक आधुनिक एनर्जी स्टोरेज स्टार्ट-अप है, जो अपने सीड राउण्ड के तहत एनर्जी स्टोरेज तकनीकों जैसे लिथियम-आयन और सोडियम आयन बैटरीज, सोलिड-स्टेट बैटरीज, सुपर कैपेसिटर्स आदि के विकास के लिए प्रतिबद्ध है।

प्रीमियम स्टार्ट-अप निवेश प्लेटफॉर्म

हालांकि वित्तपोषण की राशि के बारे में जानकारी नहीं दी गई है, इंडी एनर्जी इस धनराशि का उपयोग अपनी आर एण्ड डी क्षमता तथा प्रॉपराइटी सोडियम-आयन बैटरी टेक्नोलॉजी के विकास के लिए करेगा।

स्टार्ट-अप को 2019 से रूड़की में इन्क्यूबेट किया गया है और पहले भी इसी के माध्यम से से निधी-सीड सपोर्ट योजना के लिए भारत सरकार के डीएसटी से निवेश मिला है।

मुंबई एंजल्स नेटवर्क

आकाश सोनी, सह-संस्थापक एवं सीईओ- इंडी एनर्जी ने कहा, ‘‘इंडी एनर्जी कम लागत की सुरक्षित, उच्च परफोर्मेन्स वाली सोडियम-आयन बैटरीज के विकास के लिए प्रयासरत है, इन बैटरियों का निर्माण कृषि व्यर्थ एवं जैविक व्यर्थ जैसे धान के तिनकों और धरती से मिले प्राकृतिक संसाधनों जैसे सोडियम की मदद से किया जाता है, ताकि लिथियम, कोबाल्ट एवं निकल जैसे दुर्लभ धातुओं पर निर्भरता को कम किया जा सके, जो लिथियम-आयन बैटरियों के निर्माण के लिए जरूरी हैं। हमें खुशी  है कि मुंबई एंजल्स नेटवर्क जैसे निवेशक ने हममें निवेश किया है।

Read Also  कोरोना संक्रमितों के लिए दून पुलिस ने शुरू की ऑटो एंबुलेंस सेवा

इस वित्तपोषण से प्राप्त धनराधि का उपयोग कर हम अपनी बुनियादी सुविधाओं में सुधार लाएंगे और सोडियम-आयन बैटरी टेक्नोलॉजी के विकास द्वारा अपने कारोबार का पैमाना बढ़ाएंगे।’

मिस नंदिनी मनसिंघका, सह-संस्थापक एवं सीईओ, मुंबई एंजल्स नेटवर्क

निवेश के बारे में बात करते हुए मिस नंदिनी मनसिंघका, सह-संस्थापक एवं सीईओ, मुंबई एंजल्स नेटवर्क ने कहा, ‘‘आज की दुनिया पूरी तरह से टेकनोलॉजी एवं गैजेट्स पर निर्भर हो गई है, साथ ही जलवायु परिवर्तन, अपशिष्ट के उत्पादन के बारे में जागरुकता बढ़ रही है। ऐसे में स्थायी उर्जा के उत्पादन एवं व्यर्थ की उपयोगता को सुनिश्चित करना समय की मांग है।

इंडी एनर्जी अपनी प्रॉपराइटरी सोडियन- आयन बैटरी के निर्माण के लिए दुर्लभ संसाधनों पर निर्भरता कम करना चाहता है, जो एनर्जी स्टोरेज स्पेस में एक क्रान्तिकारी कदम होगा। यह वित्तपोषण इंडी एनर्जी की टीम द्वारा किए जा रहे सराहनीय कार्यों की पुष्टि करता है। हमें विश्वास है कि इससे हमारे कारोबार संचालन का पैमाना बढ़ाने तथा हमारी बुनियादी सुविधाओं के विकास में मदद मिलेगी।’

Read Also  पंचम धाम कम्बोडिया के चैथे स्थापना दिवस पर अन्तर्राष्ट्रीय आनलाइन वेबिनाॅर

Related posts

Leave a Reply

Content Protector Developer Fantastic Plugins
%d bloggers like this: