August 04, 2021

Breaking News
COVID 19 ALERT Middle 468×60

जिला सलाहकार समिति पीसीपीएनडीटी की बैठक में की गई अस्पतालों की समीक्षा

जिला सलाहकार समिति पीसीपीएनडीटी की बैठक में की गई अस्पतालों की समीक्षा

देहरादून: जिलाधिकारी समुचित प्राधिकारी जिला सलाहकार समिति पीसीपीएनडीटी डाॅ आशीष कुमार श्रीवास्तव की अध्यक्षता में वर्चुअल माध्यम से पीसीपीएनडीटी की जिला सलाहकार समिति की बैठक आयोजित की गयी।

अल्ट्रासाउण्ड मशीन

जिलाधिकारी की अध्यक्षता वाली समिति ने मैक्स सुपर स्पेशलिटी, डाॅ शिल्पा फेमिकेयर फोर्टिलिटी राजपुर रोड जाखन, हिमालय इन्स्टीट्यूट जौलीग्रान्ट और कनिष्क सर्जिकल स्पेशलिटी हरिद्वार बाईपास  रोड हाॅस्पिटल केन्द्रो को अल्ट्रासाउण्ड मशीन क्रय करने तथा आहुजा पैथोलाॅजी एवं इमेजिंग सेन्टर और मित्तल डायग्नोस्टिक एम.के.पी चैक को सी.टी स्कैन मशीन क्रय करने का अनुमोदन किया गया।

2 केन्द्रों मैक्स हाॅस्पिटल में डाॅ योगेन्द्र और सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र मसूरी में डाॅ खजान को अल्ट्रासाउण्ड मशीन में कार्य करने की अनुमति प्रदान की गयी। 

हिमालयन हाॅस्पिटल जौलीग्रान्ट में एनिस्थिनिया को छोड़कर काॅर्डियो और यूरिया से सम्बन्धित मामलों में सम्बन्धित चिकित्सकों को कार्य करने की अनुमति प्रदान की गयी। कनिष्क हाॅस्पिटल के डाॅ अभिनव जैन से कार्य करने की अवधि की अवधि का ब्यौरा प्राप्त करने तथा आहुजा पैथोलाॅजी के डाॅ सुधीर रंजन प्रसाद से विभिन्न क्राइटेरिया प्राप्त करने के समिति के सदस्यों को निर्देश दिये।

समिति द्वारा पुरूषोत्तम डायग्नोस्टिक सेन्टर हरिद्वार रोड ऋषिकेश को पुरानी अल्ट्रासाउण्ड मशीन को एस.एस मेडिकल सिस्टम कंपनी को विक्रय करने की अनुमति प्रदान की गयी। मंहत इन्दिरेश अस्पताल में इको अल्ट्रासाउण्ड मशीन माॅडल का 20 जुलाई 2021 से 30 जुलाई 2021 तक डैमो की अनुमति प्रदान की गयी।

Read Also  आयुर्वेदिक चिकित्सालय सहस्त्रधारा को दिए 02 कंसंट्रेटर और 04 आक्सीजन सिंलेंडर

जिलाधिकारी ने दून मेडिकल कालेज के प्राचार्य को निर्देशित किया कि जो चिकित्सक मेडिकल काॅलेज के साथ पूर्व में किये गये अनुबन्ध और अधिनियम के प्रावधानों का उल्लंघन करते हुए अन्य प्राइवेट अस्पतालों में अपनी सेवाएं देते हैं ऐसे चिकित्सकों का तत्काल प्रभाव से अनुबन्ध संस्पैन्ड करते हुए उन पर नियमानुसार कार्यवाही करें।

समिति द्वारा अरिहन्त हाॅस्पिटल की सीटी स्कैन मशीन को पंजीकरण में दर्ज करने तथा 4 केन्द्रों आहुजा पैथोलाॅजी, मुख्य अधिशासी अधिकारी उत्तराखण्ड भेड़ एवं उन विकास बोर्ड, पशुधन भवन पशुलोक ऋषिकेश, आरना इमेजिंग सेन्टर बल्लुपुर और मेडिकल वैटरनिक एण्ड डायग्नोस्टिक सेन्टर राजेन्द्र नगर देहरादून के नवीन पंजीकरण का अनुमोदन किया गया।

समिति द्वारा 3 केन्द्रों मुख्य चिकित्साधिकारी न्यू फारेस्ट हाॅस्पिटल देहरादून, कनिष्क सर्जिकल स्पेशलिटी हरिद्वार बाईपास रोड और विवेकानन्द मिशन सोसाइटी चैरिटेबल धर्मावाला देहरादून के केन्द्रों के पंजीकरण का नवीनीकरण का अनुमोदन किया गया।

6 केन्द्रों पराशर्स पैथोलाॅजी इन्दर रोड, आरना इमेजिंग कारगी रोड, मलिक अल्ट्रासाउण्ड ऋषिकेश, साल्वी इमेजिंग एण्ड आर्थोकेयर रेसकोर्स, मंगल क्लीनिक एण्ड डायग्नोस्टिक और वैश्य नर्सिंग होम सेवक आश्रम रोड देहरादून में स्थापित नई अल्ट्रासाउण्ड मशीन को पंजीकरण फार्म बी में दर्ज करने का अनुमोदन किया गया।

डाॅ संस्कृति मदर चाइल्ड क्लीनिक एवं हैप्पी क्लीनिकल डायग्नोस्टिक सेन्टर को उनके द्वारा सेन्टर के पंजीकरण को निरस्त करने के आवेदन पर विचार करते हुए केन्द्रों के पंजीकरण को निरस्त करने का निर्णय लिया गया।

Read Also  संतुलित उर्वरक उपयोग से मृदा स्वास्थ्य प्रबन्धन पर किसान गोष्ठी आयोजित

इसके अतिरिक्त जिलाधिकारी ने जनपद में जिन क्षेत्रों में लिंगानुपात  के आंकड़े सन्तुलित नहीं हैं वहां की आशा कार्यकर्तियों को कड़ी निगरानी करने तथा विभाग के उच्चाधिकारियों को इसकी नियमित निगरानी करने के निर्देश दिये।इस दौरान बैठक में मुख्य चिकित्साधिकारी डाॅ मनोज उपे्रती, डाॅ जीपी रतूड़ी, डाॅ एन.एस खत्री, डाॅ वन्दना, डाॅ चित्रा  जोशी, संयुक्त निदेशक विधि जे.सी पंचोली, डाॅ सुबोध नौटियाल, समन्वयक ममता बहुगुणा, सामाजिक कार्यकर्ती कमला जायसवाल आदि वर्चुअल माध्यम से बैठक से जुड़े हुए थे।

टीकाकरण की गति बढ़ाने और दिये गये लक्ष्य को पूरा करने के दिए निर्देश 


जिलाधिकारी डाॅ आशीष कुमार श्रीवास्तव ने वर्चुअल माध्यम से बैठक लेते हुए चिकित्सा विभाग और राजस्व विभाग के अधीनस्थ अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिये। जिलाधिकारी ने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को निर्देशित किया कि कि स्वास्थ्य सुविधाओं के विकास से सम्बन्धित इन्फ्रास्ट्रक्चरल और निर्माण कार्यों के आर्डर सम्बन्धित एजेंसियों को शीघ्रता से प्रदान करें तथा सभी कार्य समय रहते पूर्ण करवायें।

जिलाधिकारी ने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को निर्देशित किया

उन्होंने कोविड-19 टीकाकरण की गति  बढाने और दिये गये लक्ष्य को पूरा करने के निर्देश दिये।जिलाधिकारी ने समस्त उप जिलाधिकारियों को अपने-अपने क्षेत्रान्तर्गत कोविड सकं्रमण से बचाव हेतु विभिन्न स्तरों पर निगरानी बरतने के साथ ही सोशल डिस्टेसिंग एवं केन्द्र एवं राज्य सरकार द्वारा संक्रमण से बचाव हेतु समय-समय पर जारी दिशा निर्देशों का अनिवार्यतः पालन करवाने के निर्देश दिये।

Read Also  मंत्री बिशन सिंह चुफाल ने 113.63 करोड़ की 34 पेयजल योजनाओं को दी मंजूरी

उन्होंने सभी उप जिलाधिकारियों को जनपद की सीमा चैकपोस्ट पर निरीक्षण करते हुए व्यवस्थाओं का जायजा लेने तथा चैकपोस्ट पर सैम्पलिंग टीम एवं पुलिस के बीच बेहतर समन्वय बनाया जाय ताकि जनपद में आने वाले प्रत्येक व्यक्ति की जांच एवं विवरण अद्यतन किया जा सके।

उन्होंने कहा कि सभी एमओआईसी यह सुनिश्चित करें कि अन्य राज्यों से जनपद में आने वाले प्रत्येक व्यक्ति की सैम्पलिंग हो तथा जो व्यक्ति अपनी रिपोर्ट लेकर आ रहे हैं उनकी भी जांच कर ली जाए कि किसी के पास फर्जी रिर्पोट तो नहीं। उन्होंने कहा कि यदि कोई व्यक्ति फर्जी कोविड रिपोर्ट लेकर जनपद में प्रवेश करता है ऐसे व्यक्तियों के उपर निर्धारित प्राविधानों के अनुसार कार्यवाही की जाय। 

Related posts

Leave a Reply

Content Protector Developer Fantastic Plugins
%d bloggers like this: