Be Positive Be Unitedहरिद्वार: अखाड़ा परिषद का प्रतिनिधिमण्डल यूपी के मुख्यमंत्री से मुलाकातDoonited News is Positive News
Breaking News

हरिद्वार: अखाड़ा परिषद का प्रतिनिधिमण्डल यूपी के मुख्यमंत्री से मुलाकात

हरिद्वार: अखाड़ा परिषद का प्रतिनिधिमण्डल यूपी के मुख्यमंत्री से मुलाकात
Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.



हरिद्वार: बैरागी कैम्प में बैरागी अखाड़ो द्वारा बनाए गए चार मन्दिरों को अवैध अतिक्रमण घोषित किए जाने के मामले को लेकर जहां अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद ने उच्चतम न्यायालय में याचिका एसएलपी दायर कर दी है,वही इस भूमि पर विधिवत रूप से अखाड़ो को सौपे जाने के लिए कार्यवाही भी प्रारम्भ कर दी है।

इस प्रकरण को लेकर शुक्रवार को अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष श्रीमहंत नरेन्द्र गिरि तथा महामंत्री श्रीमहंत हरिगिरि के नेतृत्व में तीनों बैरागी अणियों के श्रीमहंत धर्मदास,श्रीमहंत राजेन्द्र दास, श्रीमहंत रामजी दास,महंत आशुतोष गिरि,महंत नीलकंठ गिरि आदि ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ तथा उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य से मिले। अखाड़ा परिषद ने मुख्यमंत्री श्री योगी को वस्तु स्थिति से अवगत करतो हुए बैरागी कैम्प की उक्त भूमि को बैरागी अखाड़ों को लीज पर दिए जाने का अनुरोध किया।


श्रीमहंत हरि गिरी ने बताया कि बैरागी कैपल की इस भूमि पर आदि काल से ही कुम्भ पर्व के दौरान बैरागी अखाड़ो की तीनो अणियों को भूमि आवंटित की जाती रही है। वर्तमान में भी जो भी सरकारी रिकार्ड उपलब्ध है,उसमें यह भूखण्ड बैरागी अखाड़ों के नाम पूर्व से ही आवंटित होते चले आ रहे है। बैरागी अखाड़ो के खालसाओं की छावनी ही यह लगती आयी है,इसलिए इस क्षेत्र को बैरागी कैम्प कहा जाता है। उन्होने बताया बैरागी कैम्प,रोड़ी बेलवाला,लालजीवाला,आदि क्षेत्र अभी भी उत्तर प्रदेश सरकार के स्वामित्व में है,लिहाजा बैरागी कैम्प की भूमि के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से अनुरोध किया गया है।




श्रीमहंत हरि गिरि ने बताया उत्तराखण्ड सरकार द्वारा बैरागी कैम्प में जिन चार मन्दिरों को अवैध अतिक्रमण बताया जा रहा है,वह वास्तव में अतिक्रमण की श्रेणी में आते ही नही है। सुप्रीम कोर्ट के 2009 के एक आदेश के बाद हाईकोर्ट नैनीताल के निदेश पर उत्तराखण्ड सरकार ने 2010 में कोर्ट में शपथ पत्र दाखिल कर इस सन्दर्भ मं एक पाॅलिसी बनाने की घोषणा की। जिसके तहत पब्लिक गली,पब्लिक पार्क तथा अन्य पब्लिक प्लेस पर किए गए अतिक्रमण को हटाने,सिानान्तरित करने अथवा नियमित करने हेतु पाॅलिसी 2016 बनायी गयी।

जिसमें अतिक्रमण हटाने के तीनों विकल्पों के अतिरिक्त पीड़ित पक्ष को न्यायालय जाने की अनुमति दी गयी थी। साथ ही पाॅलिसी में यह भी कहा गया कि पब्लिक प्लेस में अतिक्रमण से किसी भी सार्वजनिक गतिविधि,यातायात या अन्य गतिविधि प्रभावित न होती हो तो ऐसे अतिक्रमण प्रशासन व जनता की सहमति से नियमित किए जा सकते है। उन्होने बतााया कि इन्ही तथ्यों के प्रकाश में बैरागी कैम्प के चार मन्दिरों को नियमित किए जाने की प्रार्थना सुप्रीम कोर्ट में भी की गयी है तथा उत्तर प्रदेश सरकार से उक्त भूमि को लीज पर दिए जाने की मांग की गयी है।



Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.

Related posts

%d bloggers like this: