Breaking News

फंगल इन्फेक्शन से तुरंत राहत पाने के लिए अपनाएं ये चार घरेलू नुस्खें

फंगल इन्फेक्शन से तुरंत राहत पाने के लिए अपनाएं ये चार घरेलू नुस्खें

फंगल इंफेक्‍शन आमतौर पर कवक से होनी वाली समस्‍या है। इसमें त्वचा की ऊपरी सतह पर पपड़ी, पैरों में खुजली, पैरों के नाखूनों का पीला और मोटा होना, त्वचा पर लाल चकत्ते बनना और उनके चारों ओर खुजली होना, पसीने वाले हिस्सों में ज्यादा खुजली होना, जैसे लक्षण देखने को मिलते हैं जो एक संक्रामक रोग है। फंगल संक्रमण के कुछ सामान्य प्रकार एथलीट फुट, जॉक खुजली, दाद, रिंगवार्म, कैंडिडिआसिस आदि शामिल है। फंगल संक्रमण की गंभीरता व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में भिन्न हो सकती हैं।

फंगल संक्रमण कई कारणों जैसे एंटीबॉ‍योटिक दवाओं के साइड इफेक्‍ट, कमजोर प्रतिरक्षा प्रणाली, डायबिटीज, स्‍वच्‍छता की कमी, गर्म वातावरण में रहना, ब्‍ल्‍ड सर्कुलेशन की कमी आदि से होता है। आजकल की सक्रिय जीवनशैली के कारण फंगल इंफेक्‍शन किसी को भी प्रभावित करना बहुत आम है। लेकिन कुछ आसान हर्बल उपचारों की मदद से संक्रमण के कारण कवक को नष्‍ट करने और लक्षणों की तीव्रता को कम करने में मदद करते हैं।

Read Also  औषधीय गुणों से भरपूर है स्‍वास्‍थ्‍यवर्धक त्रिफला

नारियल तेल: नारियल का तेल भी इस समस्या से निजात दिलाने मे सहायक है। इसके उपयोग के लिए थोड़ा नारियल तेल ले। अब इस तेल को इन्फेक्शन वाले स्थान पर थोड़ी देर तक लगा कर रखे।

जैतून: जैतून के पत्ते भी फायदेमंद होता है। इसके प्रयोग करने से भी फंगल समस्या को दूर लिया जा सकता है। इसके प्रयोग के लिए जैतून के कुछ पत्तो को महीन पीसकर इसका पेस्ट बना ले। अब इस पेस्ट को इन्फेक्शन वाले स्थान पर आधे घंटे के लिए लगा ले। फिर इसे गुनगुने पानी से साफ़ कर दें।

दही: सादे दही को कॉटन की मदद से आधे घंटे तक इंफेक्शन वाली जगह पर लगा कर रखे। आधे घंटे बाद गुनगुने पानी से धो दे। इस विधि का प्रयोग दिन में दो बार करने से राहत मिलती है।

लहसुन: लहसुन में अनेक प्रकार के एंटीफंगल गुण मौजूद होते है। लहसुन किसी भी प्रकार के संक्रमण से बचने में हमारी मदद करता है। इसके उपयोग के लिए 2 लहसुन की कलियों को लेकर उन्हें अच्छी तरह पीस ले। इस मे जैतून का तेल मिलाकर दिन 2-3 बार लगाने से इस समस्या से निजात मिलता है।

Read Also  कई बार दवाई के रूप में भी प्रयोग में लिया जाता है करेला

हल्दी: हल्दी का उपयोग भी फायदेमंद होता है। इसके प्रयोग के लिए संक्रमण वाले स्थान पर कच्ची हल्दी की जड़ो का रास निकालकर लगाए इससे इन्फेक्शन जल्दी ठीक होने लगता है। इसके रस को 2 या 3 घंटे तक संक्रमण वाले स्थान पर लगाकर रखें।

 

Related posts

Leave a Reply

%d bloggers like this: