हरिद्वार: पल्स पोलियो अभियान को लेकर एडीएम ने ली टास्क फोर्स की बैठक | Doonited.India
Breaking News

हरिद्वार: पल्स पोलियो अभियान को लेकर एडीएम ने ली टास्क फोर्स की बैठक

हरिद्वार: पल्स पोलियो अभियान को लेकर एडीएम ने ली टास्क फोर्स की बैठक
Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.
हरिद्वार: 15 सितम्बर को आयोजित होने वाले राष्ट्रीय पल्स पोलियो अभियान के सफल आयोजन तथा डेंगू नियंत्रण कार्यक्रम के लिए गठित जिला टास्ट फोर्स समिति की बैठक कलेक्ट्रेट सभागार में अपर जिलाधिकारी भगवत किशोर मिश्र की अध्यक्षता में आयोजित की गयी। बैठक में मुख्य चिकित्सा अधिकारी सरोज नैथानी, सिटी मजिस्टेªट जगदीश लाल, एएसपी आयुष अग्रवाल, एसडीएम हरिद्वार, एसडीएम भगवानपुर सहित जिला और ब्लाॅक स्तर के स्वास्थ्य अधिकारी उपस्थित रहे।

बैठक में दोनों महत्वपूर्ण कार्यक्रमों के लिए सम्बन्धित विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिये गये। जनपद में 0-5 वर्ष के समस्त बच्चों को पोलियो ड्राप्स पिलाने के कार्य में अपना पूर्ण सहयोग देने की अपील सीएमओ ने की। सीएमओ ने अवगत कराया कि भारत को पोलियो मुक्त देश होने के बावजूद भी क्यों अभियान निरंतर चलाये जाने की जरूरत है।

उन्होंने कहा कि वायरस जनित संक्रमण होने के कारण पोलियो फैलने वाली बीमारी है। हमारे पड़ोसी देश पाकिस्तान और अफगानिस्तान में अभी भी पोलियो के मामले पकड़े जा रहे हैं। इन देशों के जो राज्य भारत की सीमा से जुड़े वहीं सबसे ज्यादा बच्चों में लक्षण प्रकट हुए, जिस कारण वायरस के पुनः भारत पहुंचने का खतरा बना हुआ है। जब पड़ोसी देशों से पोलियो नष्ट न होगा तब तक भारत में भी पोलिया ड्राप अभियान चलाया जाना नितांत आवश्यक है। चीन के पोलियो मुक्त देश प्रमाणित होने के बाद भी वहां 2018-19 में पोलियो के नये मामले बड़ी संख्या में पाये गये। ऐसा होने के कारण वायरस का नागरिकों के आने-जाने के दौरान संक्रमण फैलना है।

अभियान में मुख्य विभागों से सहयोग की अपील करते हुए उन्होंने कहा कि शिक्षा विभाग 15 सितम्बर को सभी प्राथमिक विद्यालयों में बच्चों को मिड मील उपलब्ध करायें, जिससे अधिकतम बच्चे विद्यालय बूथ की ओर आकर्षित हों। बड़ी कक्षाओं के बच्चों को बुलावा टोली के रूप में मौहल्लों बस्तियों में बूथ लाने के लिए प्रेरित किया जाये। 

डेंगू नियंत्रण कार्यक्रम पर भी जिला प्रतिरक्षण अधिकारी, जिला मलेरिया अधिकारी ने विभागों से सहयोग की अपील की। उन्होंने कहा कि डेंगू के विरूद्ध अभियान और जागरूकता ही कारगर उपाय है। डेंगू मच्छर को पनपने न दिया जाये क्योंकि डेंगू रोग (वायरस) का संवाहक एलाइजा मच्छर है। उन्हांेने डेंगू से बचने के लिए सुरक्षा उपाय भी बताये। जिसमें अंधेरे कमरों मे प्रकाश व्यवस्था, कहीं पर जमा हो रहे साफ पानी को बदलना, नमी वाले स्थानों पर कीटनाश्कोें का प्रयोग करना। मच्छर रोधी दवा या नारियल तेल, सरसो तेल का लेप कर के घर से बाहर निकलना, विशेषकर छोटे बच्चों को पूरी बाजू के कपड़े और मौजे पहना कर स्कूल भेजना आदि।  
Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.

About The Author

Related posts

error: Be Positive Be United
%d bloggers like this: