रुद्रप्रयाग: प्रशिक्षण कार्यक्रम में जानकारी देते जिलाधिकारी मंगेश घिल्ड़ियाल | Doonited.India

October 23, 2019

Breaking News

 रुद्रप्रयाग: प्रशिक्षण कार्यक्रम में जानकारी देते जिलाधिकारी मंगेश घिल्ड़ियाल

 रुद्रप्रयाग: प्रशिक्षण कार्यक्रम में जानकारी देते जिलाधिकारी मंगेश घिल्ड़ियाल
Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.
पंचायत चुनाव के लिए जिले में 336 मतदान केन्द्र और 461 बूथ

रुद्रप्रयाग: त्रिस्तरीय पंचायत सामान्य निर्वाचन को सफलतापूर्वक संचालित करने के लिये प्रशासन स्तर पर भी तैयारियां शुरू हो गई हैं। चुनाव को संपंन कराने को लेकर  जिला सभागार में आरओ, एआरओ, प्रभारी, सह प्रभारी अधिकारियों को प्रथम प्रशिक्षण दिया गया।

प्रशिक्षण कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुये जिला निर्वाचन अधिकारी मंगेश घिल्डियाल ने कहा कि निर्वाचन लोकतन्त्र का महत्वपूर्ण अंग है, इसे निष्पक्ष, पारदर्शिता से सम्पन्न कराना हम सबका दायित्व है। उन्होंने निर्वाचन में तैनात सभी अधिकारियों से कहा कि वे निर्वाचन को गम्भीरता से लें व सजग होकर निर्वाचन सम्पन्न करायें। उन्हांने कहा कि सभी आरओ, एआरओ अपनी हस्त पुस्तिका का भलीभांति अध्ययन कर लें और किसी प्रकार की परेशानी होने पर कन्ट्रोल रूम अथवा उच्चाधिकारियों से सम्पर्क कर शंका का समाधान करा लें। उन्होंने कहा कि नामांकन प्रक्रिया अति महत्वपूर्ण होती है, इसलिए आरओ, एआरओ हस्त पुस्तिका के अनुसार आयोग द्वारा दिये गये निर्देशों का अनुपालन करते हुये एकाग्रता के साथ सजग होकर कार्य करें व सभी प्रकार के प्रपत्रों का परीक्षण करें।

सभी जोनल, सेक्टर व नोडल मजिस्ट्रेट अपने-अपने मतदान बूथों का स्थलीय निरीक्षण करें तथा मूलभूत सुविधायें बिजली, पानी, रैम्प, शौचालय आदि व्यवस्थायें सुनिश्चित करें। जिला निर्वाचन अधिकारी श्री घिल्डियाल ने कहा कि आचार संहिता प्रभावी है इसलिए जोनल सेक्टर मजिस्टेट अपने-अपने क्षेत्रों में लगी प्रचार सामग्री को तुरन्त हटायें साथ ही प्रत्येक दिन की कार्यवाही की सूचना प्रपत्रों में भरकर आदर्श आचार संहिता के नोडल को भेजना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि सभी मजिस्ट्रेट संवेदनशील बूथों की गतिविधियों पर पैनी नजर रखने के साथ किसी प्रकार की अव्यवस्था की आशंका की सूचना कन्ट्रोल रूम को देंगे। निर्वाचन कार्यो की समस्त प्रक्रिया को स्वतन्त्र, निष्पक्ष एवं पारदर्शिता से सम्पन्न कराने के लिये विकास भवन में कन्ट्रोल रूम स्थापित कर दिया गया है, जिसका नम्बर 01364-233812 है। उन्होंने बताया जिला बचत अधिकारी को कन्टोल रूम का प्रभारी बनाया गया है जिनका मोबाइल नम्बर 9412039015 एवं 9760895949  है। जिला निर्वाचन अधिकारी ने निर्वाचन में तैनात सभी अधिकारियों, कर्मचारियों को अपना मोबाइल चैबीस घंटे खुला रखने के निर्देश दिये हैं।

प्रशिक्षण कार्यक्रम में आरओ, एआरओ, प्रभारी, सह प्रभारी अधिकारियों को सैद्धान्तिक व व्यवहारिक प्रशिक्षण नोडल अधिकारी कपिल पाण्डेय एवं ट्रैनर बी ऐन पुरोहित द्वारा दिया गया। प्रभारी अधिकारी निर्वाचन मुख्य विकास अधिकारी सरदार सिंह चैहान ने विस्तृत रूप से आदर्श आचार संहिता का पाठ पढाने के साथ अपने अनुभव साझा किये और जरूरी एहतियातों के सम्बन्ध में दिशा-निर्देश दिये। जनपद में 336 ग्राम पंचायतों, 118 क्षेत्र पंचायत, 18 जिला पंचायत सदस्यों के निष्पक्ष व पारदर्शिता निर्वाचन को सम्पन्न कराने के लिये 336 मतदान केन्द्र जिसमें 461 बूथ बनाये गये है। प्रशिक्षण में मुख्य पशु चिकित्साधिकारी रमेश सिंह नितवाल, वरिष्ठ कोषाधिकारी शशि सिंह, अधिशासी अभियन्ता सिंचाई पीएस बिष्ट, ऐपीडी रमेश कुमार, सहायक निर्वाचन पंचस्थानी अतुल भट्ट सहित सभी नोडल, प्रभारी, सह प्रभारी मौजूद थे।

माध्यमिक शिक्षा के लिए 7 करोड़ का बजट अनुमोदित: जिला परियोजना समग्र शिक्षा (माध्यमिक) की वार्षिक कार्ययोजना एवं बजट 2019-20 में भारत सरकार द्वारा स्वीकृत गतिविधियों के अनुमोदनार्थ एवं क्रियान्वयन के लिये बैठक संपंन हुई। बैठक में विभिन्न कार्यक्रमों के लिये सात करोड़ 39 लाख अठत्तर हजार के बजट प्रस्ताव को समिति की ओर से अनुमोदित किया गया।

जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल की अध्यक्षता में संपंन हुई बैठक में जिला परियोजना अधिकारी एलएस दानू ने समग्र शिक्षा माध्यमिक की रूप रेखा, परियोजना के उद्देश्य एवं वर्ष 2018-19 की गतिविधियों की प्रगति समिति के सम्मुख रखी। जिला परियोजना समिति के सदस्यों ने परियोजना प्रगति की सराहना की।

जिला समन्वयक समग्र शिक्षा सुशील गैरोला ने पावर प्वांइट प्रस्तुतिकरण के माध्यम से भारत सरकार द्वारा स्वीकृत वार्षिक कार्य योजना एवं बजट 2019-20 की विस्तृत रूपरेखा समिति के सम्मुख अनुमोदनार्थ प्रस्तुत की। समिति द्वारा सभी प्रस्तावों की वृहद चर्चा परिचर्चा के पश्चात् सर्वसम्मति से अनुमोदित किया गया।

समिति के द्वारा निम्न कार्यक्रमों को अनुमोदित किया गया। जिसमें विद्यालय सुदृढ़ीकरण, मीडिया एंव सामुदायिक सहभागिता (माध्यमिक), एसएमडीसी प्रशिक्षण, विद्यालय सुरक्षा कार्यक्रम, अध्यापक विनिमय कार्यक्रम, शाला सिद्धि, बाल सखा कार्यक्रम, बालिका पंचायत, परीक्षा उत्कृष्टता मिशन, अध्यापक पहचान पत्र, यूथ क्लब एंव ईको क्लब, शगुनोत्सव, सुपर 100, कला उत्सव, आर्ट एवं क्राफ्ट, विद्यालय विकास अनुदान, पुस्तकालय, विज्ञान प्रदर्शनी, विज्ञान क्विज प्रतियोगिता, शैक्षिक भ्रमण, गणित किट, विज्ञान किट, खगोल विज्ञान क्लब, आईसीटी एवं डिजिटल इन्टिटेटिव, खेल सामग्री, वेतन, बालिकाओं के लिए विज्ञान पहेली प्रतियोगिता, स्कूल सुरक्षा जागरूकता कार्यक्रम, बालिकाओं के लिये किशोरावस्था कार्यक्रम, आत्म सुरक्षा, आईईडीएसएस, व्यावसायिक शिक्षा, सेवारत अध्यापक प्रशिक्षण, विद्यालय नेतृत्व विकास प्रशिक्षण, प्रधानाचार्य प्रशिक्षण एवं एमएमईआर सभी गतिविधियों की भौतिक एंव विŸाीय पर चर्चा की गयी।

जिलाधिकारी ने कहा कि योजनाओं का क्रियान्वयन में छात्र केन्द्रित हो एवं दूरस्थ क्षेत्रों के विद्यालयों के छात्रों के अधिगम स्तर को बढ़ाने के लिये प्रयास हों। उन्होंने अध्यापक प्रशिक्षण एवं प्रधानाचार्य प्रशिक्षण में स्थानीय विद्यालयों की सफलता एवं कुशलता की कहानी को साझा करने के लिये निर्देश दिये। इस अवसर पर जिला वेसिक शिक्षाधिकारी विद्याशंकर चतुर्वेदी, डायट के प्राचार्य सुधीर सिंह असवाल, मुख्य चिकित्साधिकारी डाॅ एसके झां, कोषाधिकारी गिरीश चन्द्र सहित सम्बन्धित अधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थित थे।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.

Related posts

error: Be Positive Be United
%d bloggers like this: