चीन ने कहा- पाकिस्तान के कुल ऋण का 10वां हिस्सा है सीपीईसी लोन | Doonited.India

December 12, 2019

Breaking News

चीन ने कहा- पाकिस्तान के कुल ऋण का 10वां हिस्सा है सीपीईसी लोन

चीन ने कहा- पाकिस्तान के कुल ऋण का 10वां हिस्सा है सीपीईसी लोन
Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

बहु-अरब डॉलर के चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारे पर अमेरिकी दावों का खंडन करते हुए चीन ने साफ किया है कि परियोजना के लिए 4.9 अरब डॉलर का ऋण उत्पन्न हुआ है। यह पाकिस्तान के कुल ऋण के दसवें हिस्से से भी कम है। बीजिंग ने कहा कि वह परियोजना की प्रगति के लिए पाकिस्तान के साथ काम करना जारी रखेगा। चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता गेंग शुआंग ने कहा कि कॉरिडोर पर अमेरिका के आरोपों पर चीन और पाकिस्तान ने समय-समय पर खंडन किया है।

अमेरिका में कुछ अभी भी उसी पुरानी कहानी का इस्तेमाल करते हैं और वही पुराने प्लॉट बनाते हैं। हालांकि, वे उस शो बंद नहीं करते हैं, जो पूरी तरह से आपदा बन गया है और दर्शकों द्वारा उकसाए जाने पर भी मंच से नहीं उतरते हैं। बताते चलें कि अमेरिका ने कहा था कि सीपीईसी प्रोजेक्ट पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था के लिए लंबे समय में फायदे का कम और नुकसान का ज्यादा सौदा साबित होगा।

दक्षिण एशियाई मामलों की कार्यवाहक सहायक मंत्री एलिस वेल्स ने कहा चीन और पाकिस्तान, दोनों कॉरिडोर को गेम चेंजर बता रहे हैं। मगर, ऐसा नहीं है और इससे सिर्फ बीजिंग को ही फायदा होगा। इस पर पाकिस्तान के नवनियुक्त योजना मंत्री असद उमर ने कहा कि यह प्रोजेक्ट देश के लिए बोझ साबित नहीं होगा, बल्कि आने वाले वर्षों के लिए औद्योगिक विकास के लिए एक मजबूत आधार प्रदान करने में मदद करेगा।

इस मामले में विदेश मंत्रालय के सूचना विभाग के उप-महानिदेशक लिजियान झाओ ने पोस्ट किया कि 22 परियोजनाओं में शुरुआती दौर में CPEC में बड़ी प्रगति हुई है। इसने स्थानीय परिवहन बुनियादी ढांचे और बिजली आपूर्ति में काफी सुधार किया है, जिससे हजारों की संख्या में पाकिस्तानियों के लिए नौकरियों का सृजन हुआ है। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान द्वारा जारी किए गए नंबरों के अनुसार, CPEC से लिया गया कर्ज 4.9 अरब डॉलर है, जो पाकिस्तान के कुल कर्ज का दसवां हिस्सा है।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.

Related posts

error: Be Positive Be United
%d bloggers like this: