Doonited कोरोना वायरस: उत्तराखंड घूमने आए 1174 लोगों को नहीं मिली इंट्री, वापस लौटायाNews
Breaking News

कोरोना वायरस: उत्तराखंड घूमने आए 1174 लोगों को नहीं मिली इंट्री, वापस लौटाया

कोरोना वायरस: उत्तराखंड घूमने आए 1174 लोगों को नहीं मिली इंट्री, वापस लौटाया
Photo Credit To Agencies
Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

हरिद्वार पुलिस ने बाहरी राज्यों से घूमने आने वाले यात्रियों के राज्य में प्रवेश पर रोक लगा दी है। नारसन बॉर्डर पर शनिवार को पुलिस ने 314 वाहनों में सवार ऐसे 1174 लोगों को राज्य में प्रवेश नहीं करने दिया, जिनके पास उत्तराखंड की आईडी नहीं थी। पुलिस सिर्फ उत्तराखंड की आईडी दिखाने पर ही लोगों को राज्य में प्रवेश करने दे रही है। हालांकि अभी तक रोडवेज बसों और रेलों से यात्रियों के आने का सिलसिला जारी है।

मुजफ्फरनगर, सहारनपुर और बिजनौर की सीमा हरिद्वार जिले से लगती है। सभी सीमाओं पर पुलिस ने सघन चेकिंग अभियान शुरू कर दिया है। बैरिकेड लगाकर एक-एक वाहन को रोककर पुलिस जांच कर रही है। हरिद्वार या प्रदेश में घूमने के इरादे से आ रहे यात्रियों को वापस लौटाया जा रहा है। जरूरी काम या फिर क्रियाकर्म के लिए हरिद्वार आने वाले लोगों को छूट दी गई है।

लक्सर में भी सख्ती
बिजनौर और मुजफ्फरनगर से सटी लक्सर की सीमाएं सील कर दी गई। यहां सीमा पर तीन स्थानों पर पुलिस तैनात की गई है। केवल उत्तराखंड की आईडी वालों को ही लक्सर में प्रवेश करने दिया जा रहा है। एसडीएम लक्सर पूरण सिंह राणा ने बताया कि कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के लिए ऐसा किया गया है।



नारसन से लौटाए 1174 लोग
एसपी देहात एसके सिंह ने बताया कि, पुलिस ने शनिवार को नारसन बॉर्डर पर 314 गाड़ियों में सवार 1174 लोगों को राज्य में प्रवेश नहीं करने दिया। यह सभी उत्तराखंड की आईडी नहीं दिखा सके। इनमें ज्यादातर पर्यटक शामिल थे। उधर, भगवानपुर में भी सहारनपुर जिले से लगी दो चेक पोस्टों काली नदी और मंडावर चेकपोस्ट पर सघन चेकिंग की रही है। थाना प्रभारी संजीव थपलियाल ने बताया कि, जिन लोगों के पास उत्तराखंड की आईडी नहीं है, उन्हें वापस भेजा जा रहा है।

सीमाओं पर पुलिस तैनात कर दी गई है। प्रदेश के बाहर के लोगों को वापस भेजा जा रहा है। जरूरी काम या फिर कर्मकांड करने हरिद्वार आने वाले लोगों को राहत दी गई है। –सेंथिल अवूदई कृष्ण राज एस, एसएसपी, हरिद्वार

बार्डर सील नहीं, यात्रियों का लिया जा रहा ब्योरा
मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह ने बताया कि, राज्य से लगने वाली हिमाचल और यूपी की सीमा को सील नहीं किया जाएगा। लेकिन बॉर्डर पर प्रत्येक वाहन की चेकिंग होगी और यात्रियों का पूरा ब्योरा लिया जाएगा। इसके बाद ही वाहनों को राज्य में आने दिया जाएगा। प्राइवेट ट्रांसपोर्ट से जाने वाले यात्रियों को इमरजेंसी में न रोकने का निर्णय लिया गया है।



Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.

Post source : livehindustan

Related posts

error: Be Positive Be United
%d bloggers like this: