Doonitedचीन ने टेके घुटने, पाकिस्तान की बोलती बंदNews
Breaking News

चीन ने टेके घुटने, पाकिस्तान की बोलती बंद

चीन ने टेके घुटने, पाकिस्तान की बोलती बंद
Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

भारत के आगे चीन को घुटने टेकने पड़ गये हैं। भारत में चीन के राजदूत और चीन का विदेश मंत्रालय अब शांति का राग अलापने लगे हैं। डोकलाम के बाद यह दूसरा अवसर है कि सीमा पर चीन को अपने कदम वापस खींचने पड़े हैं। इस बार चीन ने बड़े ही शातिराना ढंग से पहले नेपाल को आगे कर सीमा विवाद को रंग देना चाहा और फिर खुद लद्दाख में अपनी सेना को आगे बढ़ा दिया। भारत के राजनीतिक नेतृत्व, कूटनीतिक विशेषज्ञ और सामरिक योद्धाओं ने बड़े ही सूझबूझ, सतर्कता और संयम के साथ रणनीति के आक्रामक रुख अपनाया। इसका नतीजा यह हुआ कि नेपाल ने नक्शा संबंधि विधेयक संसद में पेश ही नहीं किया। यहीं पर चीन की सबसे बड़ी हार हुई।

नेपाल की संसद में अपनी चाल को नाकाम होता देख चीन को मजबूरन लद्दाख से भी अपने पैर खींचने पड़े। इधर भारतीय सेना ऑपरेशनल तैयारियों को अमली जामा पहनाने में लगी थी और उधर चीन का विदेश मंत्रालय और भारत में चीन के राजदूत ने शांति का स्वर छेड़ रहे थे। इस वाकये में सबसे बड़ा नुकसान और शर्मसारी पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान को उठानी पड़ी है। इमरान खान ने आंख खुलते ही सुबह-सवेरे भारत के खिलाफ जहर उगलते हुए ट्वीट कर डाले। इन ट्वीट्स में इमरान खान ने भारत के पड़ौसियों से सीमा विवाद को हवा देने की कोशिश की। इसीके साथ उन्होंने हमेशा की तरह भारत के मुसलमानों को बरगलाने की भी कोशिश की। अब चीन के घुटने टेकने के बाद इमरान खान को मुंह दिखाना मुश्किल हो रहा है।

भारत में चीन के राजदूत सन विडोंग ने कन्फेडरेशन ऑफ यंग लीडर्स मीट को संबोधित करते हुए भारत और चीन के रिश्तों को प्रगाढ़ करने की जरूरत बताई। उन्होंने कहा, ‘हमें कभी भी अपने मतभेदों को अपने रिश्तों पर हावी नहीं होने देना चाहिए। हमें इन मतभेदों का समाधान बातचीत के जरिए करना चाहिए।’ विडोंग ने आगे कहा, ‘चीन और भारत कोविड-19 के खिलाफ साझी लड़ाई लड़ रहे हैं और हम पर अपने रिश्तों को और प्रगाढ़ करने की जिम्मेदारी है। उन्होंने कहा, ‘हमारे युवाओं को चीन और भारत के रिश्ते को महसूस करना चाहिए। दोनों देश एक-दूसरे के लिए अवसरों के द्वार हैं, न कि खतरों के।’ उन्होंने कहा कि ड्रैगन और हाथी, एक साथ नृत्य कर सकते हैं। इससे पहले, चीनी विदेश मंत्रालय ने कहा कि भारत के साथ सीमा पर हालात पूरी तरह स्थिर और नियंत्रण योग्य हैं।

लद्दाख में एलएसी पर जारी तनाव के बीच भारत ने कभी उकसावे की बात नहीं की, लेकिन मंगलवार को खबर आई कि चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने अपनी सेना को युद्ध के लिए तैयार रहने को कहा था। चीन कमजोर पड़ोसियों को कभी कर्ज देकर फंसाता है तो कभी अपनी ताकत की नुमाइश कर डराने की कोशिश करता । वहीं, भारत जैसे टक्कर के देशों पर सैन्य दबाव बनाने की कोशिश करता है। हालांकि, इस कोशिश में वह लगातार अपनी भद्द पिटवा रहा है। डोकलाम के बाद अब लद्दाख में भी ऐसा ही हुआ है।

पहले चीनी विदेश मंत्रालय ने सीमा पर भारत के साथ स्थिति को सामान्य बताया तो अब भारत में चीन के राजदूत ने मतभेदों को बातचीत के जरिए मिटाने पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि चाइनीज ड्रैगन और भारतीय हाथी एक साथ नृत्य कर सकते हैं।



Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.

Post source : Agency

Related posts

error: Be Positive Be United
%d bloggers like this: