September 27, 2021

Breaking News

पौड़ी गढ़वाल जनपद के एक दिवसीय दौरे पर मुख्यमंत्री ने अनेक महत्वपूर्ण घोषणाएं की

पौड़ी गढ़वाल जनपद के एक दिवसीय दौरे पर मुख्यमंत्री ने अनेक महत्वपूर्ण घोषणाएं की

मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी आज एक दिवसीय पौड़ी गढ़वाल जनपद भ्रमण कार्यक्रम के तहत रामलीला मैदान, श्रीनगर गढ़वाल पहुंचे।

उन्होंने ‘वीर चन्द्र सिंह गढ़वाली राजकीय आयुर्विज्ञान एवं शोध संस्थान से सम्बद्ध हे.न.ब.रा. बेस टीचिंग चिकित्सालय श्रीनगर गढ़वाल में 1000 एलपीएम के 02 ऑक्सीजन जैनरेशन प्लान्ट स्वीकृत लागत रू. 186.20 लाख तथा श्रीनगर विधान सभा के अन्तर्गत विकास क्षेत्र पाबौं की बिसल्ड ग्राम समूह पम्पिंग पेयजल योजना स्वीकृत लागत रू. 281.61 लाख का लोकार्पण किया।

मुख्यमंत्री  घोषणा के तहत श्रीनगर के बस अड्डे में पार्किंग का निर्माण स्वीकृत धनराशि रू. 467.45 लाख का शिलान्यास भी किया।


मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने अनेक महत्वपूर्ण घोषणाएं भी की।  श्रीनगर नगरपालिका क्षेत्र का विस्तार करते हुए नगर निगम बनाए जाने तथा राजकीय इन्टर कॉलेज, राजकीय कन्या इंटर कॉलेज श्रीनगर में स्मार्ट क्लासेस शुरू करने की घोषणा की गई।

इसके साथ ही पंचपीपल से श्रीनगर तक बाईपास को डबल लेन चौड़ीकरण निर्माण कार्य किये जाने, पौड़ी बस अड्डे से एजेंसी मोहल्ला एवं पौड़ी चुंगी से पौड़ी बस अड्डे तक 11 केवी विद्युत लाइन तथा 33 केवी उप संस्थान नर्सरी रोड़ श्रीनगर से नैथाणा पुल 33 केवी विद्युत लाइन को भूमिगत करने का कार्य किया जायेगा। श्रीनगर नगर निगम के अवस्थापना सुविधाओं के विकास हेतु धनराशि प्रदान की जायेगी।

इसके साथ ही श्रीनगर में पेयजल की व्यवस्था की जायेगी। उन्होंने कहा कि विधानसभा चौबट्टाखाल सतपुली में झील निर्माण की स्वीकृति, विकासखण्ड बीरौंखाल राजकीय पॉलीटैक्निक में मैक्निक, इलैक्टोनिक एवं फार्मेसी के नये ट्रेड खोलने, विकास खण्ड पोखडा के अन्तर्गत राजकीय महाविद्यालय चौबट्टाखाल में स्ववित्त पोषित बीएड व स्नातकोत्तर कक्षाएं खोलने की स्वीकृति, हिन्दी, राजनीतिक विज्ञान व भूगोल विषयों के साथ प्रदान की जायेगी।

कहा कि एकेश्वर विकासखण्ड में राजकीय एलोपैथिक चिकित्सालय किर्खू का उच्चीकरण करने तथा एलोपैथिक चिकित्सालय खुलवाने तथा राजकीय डिग्री कॉलेज बेदीखाल बीएससी की मान्यता इसी सत्र में स्वीकृति दी जायेगी। विकासखण्ड बीरौंखाल के स्यूसी में झील निर्माण की स्वीकृति, विकास खण्ड पोखड़ा के अन्तर्गत बर्सूण्ड पेयजल योजना तथा एकेश्वर विकास खण्ड के अन्तर्गत ज्वाल्पा-नौगांवखाल पंपिंग योजना की स्वीकृति प्रदान की जायेगी। विकास खण्ड बीरोंखाल में राजकीय इण्टर मीडिएट कालेज बेदीखाल स्यूसी, घोड़ियाला तथा सुन्दर नगर में नये भवनो के निर्माण तथा बालिका राजकीय इण्टर कालेज बीरोंखाल भवन की स्वीकृति तथा राजकीय इण्टर कालेज बीरोंखाल में प्रयोगशाला भवन की स्वीकृति प्रदान की जायेगी।  

Read Also  नैनीताल: मंडलायुक्त ने सड़कों को लेकर ली समीक्षा बैठक


मुख्यमंत्री श्री धामी ने अपने सम्बोधन में कहा कि श्रीनगर में बड़ी तेजी से विकास हुआ है, बड़ी तेजी से काम हुए हैं। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में देश में लगातार विकास का पहिया आगे बढ़ा है। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार की विकास की नीतियों के तर्ज पर ही उत्तराखंड में विकास चरणबद्ध तरीके से किया जाएगा। उन्होंने प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी को ऑल वेदर रोड़ देने के लिए धन्यवाद देते हुए कहा कि कोई सोच भी नहीं सकता था कि पहाड़ों में रेल जायेगी, आज ऋषिकेश से कर्णप्रयाग तक 125 किलोमीटर रेल लाइन को पहुंचाने का कार्य किया जा रहा है। महिलाओं को चूल्हा जलाने से कई बीमारियां हो जाती थी, उससे निजात दिलाने के लिए उज्जवला गैस योजना की सौगात  दी गई।

उन्होंने कहा कि आज कहीं योजनाएं चलाई जा रही हैं चाहे जन धन योजना, प्रधानमंत्री आवास योजना, स्वच्छ भारत अभियान, आयुष्मान भारत योजना आदि कई योजनाएं है, जिनसे जनता सीधे लाभान्वित हो रही है। कहा कि हमारी सरकार ने भी कुछ संकल्प लिये हैं, प्रदेश के अन्दर तीन चीजों पर फोकस करेंगे, पहला जो भी हमारे समाने समस्या आती है, उसका सरलीकरण करेंगे, फिर समाधान कर निस्तारण करेंगे। कहा कि जनता एवं जनप्रतिनिधियों की समस्याओं की सुनवाई के लिए तहसील दिवसों की प्रक्रिया को पहले की तरह पुनः शुरू किया गया है। कहा कि समस्याओं के सरलीकरण, समाधान और निस्तारण हेतु सबके उत्तरदायित्व निर्धारित किये गये हैं।

उन्होंने कहा कि अधिकारी प्रातः दस से लेकर 12 बजे तक अपने कार्यालय में बैठकर लोगों की समस्याएं सुनेंगे और निस्तारण भी करेंगे। उन्होंने कहा कि जो कार्य जिस अधिकारी व कर्मचारी के स्तर का है, उसे हर हाल में वही निस्तारण करेंगे।


मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार की ओर से युवाओं के लिए इस बार 22 से लेकर 24 हजार पदों पर भर्ती निकाली जा रही है। जिन्हें तय समय पर पूरा करना उनकी सरकार का प्रथम लक्ष्य भी है।  यही नहीं कोरोना काल के चलते सरकारी सेवाओं की अधिकतम आयु सीमा को पार करने वाले युवकों को एक साल का एक्सटेंशन दिया गया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश के ऐसे युवा जो संघ लोक सेवा आयोग की परीक्षा में प्री परीक्षा पास करते हैं उन्हें सरकार की ओर से 50 हजार की आर्थिक सहायता दी जाएगी। साथ ही सीडीएस व एनडीए की प्री परीक्षा पास करने वालों को आगे की तैयारी के लिए संसाधन मुहैया कराए जाएंगे।

Read Also  नाथपा झाकड़ी ने 1216.565 मिलियन यूनिट विद्युत का उत्‍पादन


मुख्यमंत्री ने चार धाम यात्रा शुरू नहीं होने को लेकर चिंता जताई। कहा कि चारधाम यात्रा शुरू नहीं होने को लेकर इससे जुड़े पर्यटन, परिवहन होटल आदि व्यवसायियों को काफी नुकसान झेलना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि उनकी सरकार ने यात्रा, पर्यटन, होटल, राफ्टिंग आदि व्यवसाय से जुड़े लोगों को 200 करोड़ की धनराशि बतौर राहत पैकेज के रूप में दी है।

जिससे कि पर्यटन व चार धाम यात्रा से जुड़े व्यवसायियों को डीबीटी के माध्यम से राहत पैकेज की धनराशि उनके खातों में पहुंचाई जाएगी। उन्होंने कहा कि इस राहत पैकेज से अभी तक प्रदेश के 12 से 13 हजार लोग लाभान्वित भी किए जा चुके हैं। जबकि अवशेष लोगों को एक महीने के भीतर ही राहत पैकेज की धनराशि उपलब्ध कराई जाएगी। आजीविका के क्षेत्र से जुड़े स्वयं सहायता समूह, ग्राम संगठन, महिला मंगल दलों समेत क्लस्टर के आधार पर आजीविका चलाने वाले लोगों के लिए भी 119 करोड़ का राहत पैकेज से दिया है।  प्रदेश सरकार की ओर से स्वास्थ्य के क्षेत्र में आशाओं, तकनीशियन, डॉक्टरों, उपकरणों आदि के लिए भी 205 करोड़ का राहत पैकेज दिया गया है। उन्होंने कहा कि आशाओं की मानदेय संबंधी समस्याएं उनके संज्ञान में है।

शीघ्र ही आशाओं के मानदेय में वृद्धि की जाएगी। यही नहीं सभी आशाओं को स्वास्थ्य सेवाओं को अपडेट करने के लिए एक-एक टेबलेट फोन भी मुहैया कराए जाएंगे।


 मुख्यमंत्री ने कोविड 19 से जान गवाने वाले लोगों के प्रति अपनी संवेदना व्यक्त की। उन्होंने कहा कि कोविड से अपने माता पिता को खोने वाले बच्चों का भरण पोषण भी प्रदेश सरकार द्वारा किया जाएगा। उन्होंने कहा कि सरकार ने इसके लिए वात्सल्य योजना लागू की है।  प्रदेश में गर्भवती व धात्री महिलाओं के लिए भी सरकार ने महालक्ष्मी किट योजना लागू की है।


कैबिनेट मंत्री डॉ. हरक सिंह ने कहा कि श्रीनगर हर दृष्टकोण से ऐतिहासिक है। उत्तराखंड राज्य आंदोलन, भारतीय स्वाधीनता आंदोलन तथा वर्तमान समय मे भी हर क्षेत्र में यहां का महत्वपूर्ण योगदान रहा है। श्रीनगर में श्री यंत्र टापू घटना उत्तराखंड आंदोलन में नीव का पत्थर के रूप में माना जाता है। कहा कि  उन्होंने कहा कि राम मंदिर आंदोलन में भी श्रीनगर का महत्वपूर्ण स्थान रहा है। उन्होंने कहा कि श्रीनगर पहाड़ में शिक्षा का महत्वपूर्ण केंद्र बन गया है। साथ ही कहा कि माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भूतपूर्व सैनिकों की समस्याओं को सुनते हुए वन रेंक वन पेंशन लागू किया है।

Read Also  पेजयल समस्या वाले क्षेत्रों को चिन्हित किया जाएः पेयजल मंत्री


कैबिनेट मंत्री श्री सतपाल महाराज ने कहा कि  भारत सरकारद्वारा अफगानिस्तान में लगभग 250 उत्तराखंड वासियों को वापस सुरक्षित लाया गया है। उन्होंने कहा कि ऑल वेदर रोड बनने से लोगों को सुगमता से पहाड़ों में पहुंचा रही है। भारी बारिश से बंद हो रही सड़कों को सरकार तत्परता दिखाते हुए जल्दी ही खोल रही है।


कैबिनेट मंत्री डॉ. धन सिंह रावत ने कहा कि श्रीनगर में एनआईटी, स्टेडियम,  दो पुल,  52 बेड का अस्पताल, श्रीनगर मेडिकल कॉलेज सहित अन्य की तस्वीर बदल रही है।  श्रीनगर पहाड़ का पहला नगर निगम बनेगा।


 मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने कार्यक्रम के तत्पश्चात कमलेश्वर शिव मंदिर में पूजा अर्चना कर जलाभिषेक किया।


इस मौके पर भाजपा जिलाध्यक्ष संपत सिंह रावत, विधायक देवप्रयाग विनोद कण्डारी, विधायक लैंसडोन, दलीप सिंह रावत, विधायक पौड़ी मुकेश कोली, विधायक रूद्रप्रयाग भरत सिंह चौधरी, जिलाध्यक्ष रूद्रप्रयाग दिनेश उनियाल, अध्यक्ष सहकारी संघ मातबर सिंह रावत, जिला पंचायत अध्यक्ष पौड़ी शांति देवी, कुलदीप, राजेन्द्र अन्थवाल, नगरपालिका अध्यक्ष पौड़ी यशपाल बेनाम, आयुक्त गढ़वाल मंडल श्री रविनाथ रमन, जिलाधिकारी डॉ विजय कुमार जोगदंडे, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक पी रेणुका देवी, मुख्य विकास अधिकारी प्रशान्त कुमार आर्य, अपर जिलाधिकारी इला गिरि सहित संबंधित अधिकारी मौजूद थे।

Related posts

Leave a Reply

Content Protector Developer Fantastic Plugins
%d bloggers like this: