बिग बॉस पर अश्लीलता को लेकर इस पर प्रतिबन्ध लगाने की मांग | Doonited.India

October 22, 2019

Breaking News

बिग बॉस पर अश्लीलता को लेकर इस पर प्रतिबन्ध लगाने की मांग

बिग बॉस पर अश्लीलता को लेकर इस पर प्रतिबन्ध लगाने की मांग
Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

कॉन्फ़ेडरेशन ऑफ आल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) ने आज केंद्रीय सूचना प्रसारण मंत्री प्रकाश जावेड़कर को एक पत्र भेजकर कलर्स टीवी चैनल पर चल रहे टीवी शो “बिग बॉस” के प्रसारण पर तुरंत रोक लगाने की मांग की है। कैट ने कहा है की इस सीरियल में बेहद अश्लीलता और फूहड़ता का खुले आम घिनौना प्रदर्शन कि सीरियल को घरेलू माहौल में देखना मुश्किल है और हमारे देश के पुराने पारंपरिक सामजिक और सांस्कृतिक मूल्यों की धज्जियाँ उड़ाई जा रही हैं। टीआरपी और मुनाफे की लालसा मे बिग बॉस टीवी चैनल के जरिये देश में सामाजिक समरसता को धूमिल कर रहा है जिसे भारत जैसे देश की विविध संस्कृति वाले देश में कतई अनुमति नहीं दी जा सकती है। कैट के राष्ट्रीय अध्यक्ष बी.सी.भरतिया एवं राष्ट्रीय महामंत्री प्रवीन खंडेलवाल ने जावेड़कर को भेजे पत्र में कहा है की प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने न केवल भारत में, बल्कि उच्चतम विश्व मंचों पर भी देश के सांस्कृतिक मूल्यों को की जबरदस्त पैरोकारी कर रहे हैं इस दृष्टि सेइस मामले को तुरंत देखा जाना चाहिए और बिग बॉस के शो पर प्रतिबंध लगाएं जाएं।

भरतिया एवं खंडेलवाल ने कहा की यह एक खुला तथ्य है कि शो बिग बॉस हमेशा विवादों में रहा है और इस शो में सदा अश्लीलता का बोलबाला रहा है लेकिन इस बार के शो में इसने नैतिकता की सारी हदें पार कर दी हैं ! शो की सामग्री हमेशा अत्यधिक आपत्तिजनक होती है और लोगों को उकसाती है। वर्तमान शो में “बेड फ्रेंड फॉरएवर” की अवधारणा देश की मूल सांस्कृतिक और सामजिक भावना एवं फिल्म और टेलीविजन के लिए स्थापित नैतिक मानदंडों के खिलाफ है। इस सीरियल के निर्माता भूल गए हैं कि यह टीवी पर प्राइम टाइम स्लॉट है और जब यह शो प्रसारित होता है, सभी उम्र के लोग शो देखते हैं। वर्तमान शो ने नैतिकता और मूल्यों की सभी सीमाओं को पार कर लिया है। केवल शो ही नहीं बल्कि प्रतियोगियों को दिए गए विभिन्न कार्यों ने भी मानवीय और सांस्कृतिक मूल्यों का भी चीयर हरण कर लिया है ।सीरियल की सामग्री का स्तर बेहद सस्ता है जिसे किसी भी राष्ट्रीय टीवी चैनल पर प्रसारित नहीं किया जाना चाहिए।

भरतिया एवं खंडेलवाल ने कहा की यह भी कहा जाता है कि जब फिल्मों को सेंसर बोर्ड के अधीन किया जाता है तो टीवी सीरियल सेंसर बोर्ड के अधीन क्यों नहीं हो सकते। यदि वे हैं, तो सेंसर बोर्ड ने सीरियल में इस तरह की खुली अश्लीलता, बकवास, सांस्कृतिक उपद्रव और सबसे अधिक अपमानजनक दृश्य और सामग्री को प्रसारित करने की अनुमति कैसे दी। सीरियल के मेजबान सलमान खान एवं निर्माता और निर्देशक के साथ सीरियल में परोसी गई शो के संचालन के लिए समान रूप से जिम्मेदार हैं, जो इतनी निम्न स्तर की अश्लीलता दिखाते हैं।

दोनों व्यापारी नेताओं ने कहा की निश्चित रूप से सीरियल के प्रसारित करने वालों को उसकी सामग्री चयन करने का अधिकार है किन्तु उन्हें कुछ परिभाषित सिद्धांतों के साथ खिलवाड़ करने की अनुमति नहीं दी जा सकती है । स्वतंत्रता की आड़ में किसी को भी हमारे महान राष्ट्र के मूल सिद्धांतों और सिद्धांतों का उल्लंघन करने की अनुमति नहीं है।

कैट ने श्री जावेड़कर से आग्रह किया है की बिग बॉस 13 पर अंतरिम कदम के रूप में तुरंत प्रतिबंध लगाया जाए प्रत्येक एपिसोड को सेंसर बोर्ड द्वारा विधिवत प्रमाणित करने के बाद ही प्रसारित करने की अनुमति दी जाये !

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.

Post source : agency

Related posts

error: Be Positive Be United
%d bloggers like this: