Be Positive Be Unitedबागेश्वर: मंत्री रेखा आर्य ने किया राज्य आंदोलनकारियों को सम्मानितDoonited News is Positive News
Breaking News

बागेश्वर: मंत्री रेखा आर्य ने किया राज्य आंदोलनकारियों को सम्मानित

बागेश्वर:  मंत्री रेखा आर्य ने किया राज्य आंदोलनकारियों को  सम्मानित
Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

बागेश्वर: 21वीं राज्य स्थापना दिवस की 20वीं वर्षगांठ जनपद में कोरोना संक्रमण के दृष्टिगत जारी दिशा निर्देशों के अनुसार सादगी के साथ मनाई गई। इस अवसर पर जनपद की प्रभारी मंत्री एवं राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार), महिला सशक्किरण एवं बाल विकास, पशुपालन, मत्स्य विकास उत्तराखंड शासन रेखा आर्या ने राज्य स्थापना दिवस के अवसर पर कोतवाली के समीप शहीद स्मारण में राज्य आंदोलन में शहीद हुए आंदोलनकारियों एवं शहीदो के चित्रों पर पुष्प अर्पित कर उन्हे श्रद्धांजलि दी। इस अवसर पर वरिष्ठ नागरिको, पुलिस तथा पीआरडी के जवानों द्वारा कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए आयोजित जागरूकता रैली को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। जिला कार्यालय में आयोजित कार्यक्रम में सूचना एवं लोक संपर्क विभाग उत्तराखंड द्वारा प्रकाशित विकास पुस्तिका ‘‘विकसित होता उत्तराखंड बात कम काम ज्यादा’’ का विमोचन किया गया।

इस दौरान मंत्री द्वारा राज्य आंदोलन में सक्रिय रहे आंदोलनकारियों, कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए बेहतर कार्य करने वाले अधिकारियों एवं कर्मचारियों, हार्इस्कूल एव इंटर में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वालो छात्र-छात्राओं व स्थापना दिवस पर आयोजित निबंध व चित्रकला प्रतियोगिता में विजेता प्रतिभागियों को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया। इस दौरान मंत्री द्वारा कलेक्टे्रट से खनिज न्यास फाउन्डेशन बागेश्वर वित्त पोषित एडवान्स लाइफ सपोर्ट एम्बुलेंस को हरी झंडी दिखाकर रखाना किया। कलेक्टे्रट सभागार में आयोजित कार्यक्रम में राज्यमंत्री ने राज्य की 20वीं वर्षगाठ पर सभी को बधाई देते हुए कहा कि आज का दिन प्रदेशवासियों के लिए ऐतिहासिक दिन हैं जिसमें उत्तराखंड प्रदेश चौहमुखी विकास के पथ पर अग्रसर हैं।



उन्होने कहा कि राज्य गठन में शहीद हुए आंदोलनकारियों को हम शत-शत नमन करते हुए तथा उन्हें अपनी श्रद्धासुमन अर्पित करते है। जिनके बलिदान एवं संघर्ष से हमें अपना राज्य प्राप्त हुआ तथा राज्य गठन के लिए प्रदेशवासियों ने अपना पूर्ण सहयोग दिया हैं। उन्होने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी बाजपेयी को नमन करते हुए कहा कि उन्होने पहाड की पीडा को समझा तथा उत्तराखंड राज्य के गठन के लिए उनका महत्वपूर्ण योगदान रहा है। उन्होने कहा कि राज्य के गठन में शहीद हुए आंदोलनकारियों के सपनों को साकार करने के लिए सभी को उत्तराखंड के विकास के लिए मिल-जुल कर कार्य करते हुए विकास की रूपरेखा तैयार करनी होगी जिसमें सभी का सहयोग जरूरी हैं। उन्होने कहा कि उत्तराखंड प्रदेश बनने के बाद आमजनमानस की समसयओं का त्वरित निराकरण हो रहा हैं तथा जनप्रतिनिधियों उनके बीच में रहकर उनकी समस्यायें सुन रहे हैं तथा उनका निराकरण भी किया जा रहा हैं। उन्होने कहा कि प्रदेश को 20 वर्ष पूर्ण होने पर सरकार द्वारा कई महत्वाकाशी योजनायें शुरू करते हुए आमजनमानस की मूलभूत समस्यओं का निराकरण किया जा रहा हैं जिमसें सडक, शिक्षा, स्वास्थ एवं विद्युत आदि पर विशेष ध्यान देते हुए कार्य कर रही है।




उन्होने कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह के नेतृत्व में विकास के नये आयाम गडे जा रहे है। जिसमें भ्रष्टाचार मुक्त एवं जीरो टॉलरेंस पर सरकार द्वारा कार्य किया जा रहा है। उन्होने कहा कि आम जनमानस के बेहतर स्वास्थ के लिए अटल आयुष्मान योजना के अंतर्गत 05 लाख तक की चिकित्सा सुविधा प्रदान की जा रही है। जिसमें लाखो लोगो को इस सुविधा का लाभ मिल रहा है। इसके साथ महिलाओ एवं बालिकाओं की सुरक्षा के लिए पोषण अभियान कार्यक्रम चलाया जा रहा है। तथा आंगनबाडी केंद्रों में सभी बच्चों को मुख्यमंत्री आंचल अमृत योजना के अंतर्गत नि:शुल्क दूध उपलब्ध कराया जा रहा हैं। तथा गर्भवति महिलाओं का सुरक्षित प्रसव के लिए प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना का शुभारंभ किया गया है। इसी के साथ ही कन्या के जन्म होने पर नंदा गौरा कन्या धन योजना के तहत 11 हजार तथा इंटरमीडिएट पास करने पर 51 हजार की धनराशि उपलब्ध करायी जा रही है। उन्होने कहा कि पहाड से पलायन रोकने एवं बेरोजगाार युवाओं व कोरोना संक्रमण के कारण अपने जनपदो को लौटे प्रवासियों के लिए रोजगार के अवसर उपलब्ध कराने के लिए सरकार निरन्तर कार्य कर रही है, जिसके लिए मुख्यमंत्री स्वरोजगार एवं मुख्यमंत्री सौर स्वरोजगार योजना का शुभारंभ किया गया है। जिसके माध्यम से बेरोजगार युवाओं एवं प्रवासियों को रोजगार उपलबध कराया जा रहा है। उन्होने कहा कि मत्स्य एवं पशुपालन के क्षेत्र कई योजनायें संचालित की गयी हैं जिसका लाभ सीधे तौर पर यहां के युवाओं का मिल रहा है। उन्होने कहा कि प्रदेश सरकार ने पिरूल से ऊर्जा पैदा करने के लिए इस क्षेत्र में नये रोजगार के अवसर पैदा किये है। उन्होने कहा सरकार द्वारा गैरसैण को ग्रीष्मकालीन राजधानी का मूर्त रूप दिया गया है। उन्होने कहा कि राज्य के विकास के लिए सभी को दृढ इच्छाशक्ति से एक जुट होकर कार्य करने की आवश्यकता है। इस अवसर पर उन्होने राज्य आंदोलन में सक्रिय रहे आंदोलनकारियों को बधाई दी तथा कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए उत्कृष्ट कार्य करने वाले अधिकारियों एवं कर्मचारियों को तथा उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले छात्र-छात्राओं बधाई देते हुए अपनी शुभकामनायें देते हुए कहा कि आगे भी सभी लोग ऐसे ही अपने-अपने क्षेत्रों में कडी मेहनत एवं परिश्रम से कार्य करते रहे। इस अवसर पर अध्यक्ष जिला पंचायत बंसती देव ने राज्य स्थापना दिवस की बधाई देते हुए कहा कि हमें शहीदो के सपनों को साकार करने के लिए राज्य के विकास में एक जुट होकर कार्य करना होगा। क्षेत्रीय विधायक चंदन राम दास ने स्थापना दिवस की बधाई देते हुए कहा कि राज्य के चौहमुखी विकास के लिए सरकार द्वारा निरन्तर कार्य किया जा रहा है। जिससे कि कई महत्वाकांशी योजनायें संचालित करते हुए धरातल पर कार्य किया जा रहा है। तथा आमजनमानस की मूलभूत सुविधायें सडक, स्वास्थ तथा शिक्षा आदि पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है।

राज्य स्थापना दिवस की शुभकानाऐं देते हुए जिलाधिकारी विनीत कुमार ने कहा कि उत्तराखण्ड प्रदेश प्रगति के पथ पर अग्रसर हैं तथा इसके चौमुखी विकास के लिए सभी को मिल-जुल कर कार्य करने की आवश्यकता हैं, ताकि उत्तराखंड प्रदेश और प्रगति के पथ पर अग्रसर हो सकें। उन्होने कहा कि अलग उत्तराखंड राज्य की मांग काफी लंबे समय से चल रही थी यह आंदोलन 1994 से और तेज हुआ जिसमें सभी लोगो ने बढ-चढ कर भागीदारी की। जिसके परिणाम स्वरूप 09 नवम्बर, 2000 को अलग राज्य बना। उन्होने कहा कि राज्य के गठन के बाद राज्य में विकास के कई कार्य हुए हैं। किंतु अभी भी कई बडी चुनौतिया हैं जिसमें शिक्षा एवं स्वास्थ के क्षेत्र में और अधिक कार्य करने की आवश्यकता है। उन्होने कहा कि राज्य के विकास एवं पहाड से पलायन रोकने के लिए सभी को मिल-जुल कर कार्य करने की आवश्यकता है। इस अवसर पर प्रभारी मंत्री द्वारा 25 सक्रिय राज्य आंदोलनकारियों का सॉल भेंट कर सम्मानित किया, जिसमें लीलाधर पांडे, गोविन्द सिंह भण्डारी, धरम सिंह, उमा बिष्ट, दान सिंह, गंगा सिंह पांगती, भूपेन्द्र सिंह रावत आदि है। इसी प्रकार कोरोना संक्रमण के दौरान बेहतर कार्य करने वाले 22 अधिकारियों एवं कर्मचारियों को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया। तथा हार्इस्कूल में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले 16 छात्र-छात्राओं को प्रशस्ति पत्र दिया गया इसी प्रकार राज्य स्थापना दिवस के अवसर पर आयोजित निबंध एवं चित्रकला प्रतियोगिता में जूनियर एवं सीनियर वर्ग में 18 बच्चों को सम्मानित किया गया।




इस अवसर पर भाजपा जिलाध्यक्ष श्वि सिंह बिष्ट, अध्यक्ष नगर पालिका बागेश्वर सुरेश खेतवाल, ब्लॉक प्रमुख कपकोट गोविन्द्र सिंह दानू, पुलिस अधीक्षक मणीकांत मिश्रा, मुख्य विकास अधिकारी डी0डी0 पंत, अपर जिलाधिकारी हेमन्त कुमार वर्मा, उपजिलाधिकारी राकेश चन्द्र तिवारी, काण्डा योगेन्द्र सिंह, पुलिस उपाधीक्षक बागेश्वर महेश जोशी, कपकोट संगीता, मुख्य पशु चिकित्साधिकारी डा0उदय शंकर, परियोजना निदेशक शिल्पी पंत, मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ0 वी0के0 सक्सेना, जिला अर्थ एवं संख्याधिकारी देवेन्द्र नाथ गोस्वामी, जिला कार्यक्रम अधिकारी राजेन्द्र बिष्ट, कोतवाल डी0आर0 वर्मा, वरिष्ठ नागरिक रणजीत सिंह बोरा, दलीप खेतवाल, इन्द्र सिंह परिहार सहित समस्त विभागीय अधिकारी व राज्य आन्दोलनकारियों समेत विभिन्न विद्यालयों के छात्र-छात्रायें, पुलिस बल आदि मौजूद थे। कार्यक्रम का संचालन दीप जोशी द्वारा किया गया।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.

Related posts

%d bloggers like this: