August 05, 2021

Breaking News
COVID 19 ALERT Middle 468×60

हींग (About Asafoetida): हींग खाने के लाभ

हींग (About Asafoetida): हींग खाने के लाभ

हींग (Asafoetida) हर घर में पाई जाती है। यह न केवल भोजन को स्वादिष्ट (Tasty) बनाती है बल्कि सुपाच्य (Digest able) भी बनाती है। वैसे कई लोग हींग को केवल रसोईघर का मसाला समझते हैं और इसके औषधीय महत्त्व (Medical Properties) से परिचित नहीं हैं। बाराहमासी (Perennial) हींग की खेती ज्यादातर  काबुल और खुरासान, ईरान, अफगानिस्तान, तुर्केमिस्तान, बलूचिस्तान आदि देशों के पर्वतीय क्षेत्रों में होती है। भारत के कश्मीर और पंजाब राज्य के कुछ हिस्सों में भी हींग की खेती की जाती है। 

हींग के पत्तों और छाल में हल्की सी चोट देने से भी दूधनुमा पदार्थ निकलता है, जिसे पेड़ों की छाल या पत्तों पर सुखा लिख जाता है। सूखने के बाद हींग (Hing) तैयार होती है। सौंफ प्रजाति के इस पौधे की ऊंचाई 1 से 1.5 मी तक होती है। इस पौधे के भूमिगत प्रकंदों व ऊपरी जड़ों से निकलने वाले शुष्क वानस्पतिक दूध को हींग के रूप में प्रयोग किया जाता है। कच्ची हींग का स्वाद लहसुन से मिलता जुलता होता है लेकिन इसे व्यंजन में पकाने के बाद यह खाने का स्वाद बढ़ा देती है।

हींग में सल्फर (Sulphar) अधिक मात्रा में होने के कारण इसकी गंध बहुत तेज होती है और स्वाद तीखा व कटु होता है। मगर आयुर्वेद (Ayurved) में जो हींग प्रयोग की जाती है वह हीरा हींग (Heera heeng) होती है, इस हींग को सबसे अच्छा माना जाता है। हींग चार प्रकार की होती हैं कंधारी हींग, यूरोपीय वाणिज्य हींग, भारतवर्षीय हींग और वापिंड हींग। हींग का रंग सफेद (White), हलका गुलाबी और पीला व सुरखी मायल जैसा होता है।

Read Also  गिलोय के स्वास्थ्य लाभ

कैसे बनती है हींग (How asafetida prepared): पर्वतीय क्षेत्रों में पाए जाने वाले फेरूल फोइटिडा (Ferula Foetida) के पौधे से रस निकालकर उसे किसी बर्तन, पेड़ों की छाल या पत्तों में निकालकर सुखा लिया जाता है। सुखा लेने के बाद उसे या तो टुकड़ों में या चूर्ण के रूप में तोड़ कर बाजारों में बेचा जाता है।

चुटकी भर हींग के फायदे बड़े
हींग (Asafetida) की छोटी सी डिबिया में स्वास्थ्य संबंधी कितने ही गुण बंद होते हैं। रोजाना के खाने में चुटकी भर हींग इस्तेमाल करके खाने का जायका तो बढ़ाया ही जा सकता है, साथ ही स्वास्थ्य भी बेहतर बनता है। अक्सर हींग (Hing) का इस्तेमाल, दाल या सब्जी में तड़का लगाने में किया जाता है लेकिन आयुर्वेदिक दवाओं (Ayurveda Medicine) में भी हींग का इस्तेमाल बड़ी मात्रा में किया जाता है। आइए आपको बताते हैं चुटकी भर हींग के कितने स्वास्थ्य लाभ हैं।

हींग खाने के लाभ (Benefits Of Asafetida or Hing in Hindi) 
अपच होती है दूर (Indigestion):

Read Also  Remedies For Prostate Disorder

हींग में एंटी-इनफ्लेमटरी (Anti-inflammatory) और एंटी ऑक्सीडेंट (Antioxidant) गुण होते हैं तो खराब पेट, एसिडिटी, पेट के कीड़े, अपच, पेट के दर्द आदि समस्याओं में राहत पहुंचाते हैं। रोजाना हींग के इस्तेमाल से खाना सुपाच्य हो जाता है।

अनियमित पीरियड (Irregular Periods):
हींग में मौजूद एंटी इनफ्लैमेटरी गुण अनियमित पीरियड और पीरियड के दौरान होने वाली अन्य समस्याओं से निजात दिलाते हैं। इतना ही नहीं महिलाओं को होने वाली अन्य समस्याओं जैसे ल्यूकोरिया (Leucorrhoea) में भी राहत मिलती है।
कंजेस्शन से मिलती ही राहत (Chest Congestion):
हींग में प्राकृतिक रूप से बलगम (Cough) को दूर करने की क्षमता होती है। हींग को शहद (Honey) और अदरक (Ginger) के साथ मिलाकर खाने से खांसी, ब्रोंकाइटिस (Bronchitis), चेस्ट कंजेस्शन आदि दूर होते हैं। हींग को एक बेहद शक्तिशाली श्वसन उत्तेजक कहा जाता है।
यौन समस्याओं में लाभकारी (Sexual Disease):
हींग का इस्तेमाल पुरूषों में शीध्रपतन, स्पर्म की कमी, नपुंसकता आदि के उपचार के लिए भी किया जाता है। रोजाना एक गिलास गर्म पानी में थोडी सी हींग मिलाकार पीने से शरीर में खून का दौरा तेज होता है और लिबिडो (Libido) भी बढ़ता है। रोज के खाने में हींग का इस्तेमाल सेक्स से जुडी समस्याओं को कम करता है।
हाई ब्लड प्रेशर रहता है कंट्रोल (Control High Blood Pressure):
हींग में मौजूद कोमरिन्स (Coumarins) तत्व, हाई ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करता है। यह खून को पतला करके खून का फ्लो बढ़ाता है जिससे खून के थक्के नहीं जमते। इससे कोलेस्ट्रॉल (Cholesterol) और ट्राइग्लिसराइड (Triglycerides) घटता है, इसी कारण हाइपरटेंशन से बचाव होता है।
किसी भी प्रकार के दर्द से राहत (Relief in pain):
हींग के सेवन से शरीर में किसी भी प्रकार के दर्द से राहत मिलती है। दांत दर्द, माइग्रेन, पीरियड, या पेट दर्द, हींग में मौजूद एंटी ऑक्सीडेंट और दर्द निवारक तत्व हर प्रकार के दर्द में राहत देते हैं।
ब्लड शुगर लेवल होता है कम (Decrease Blood Sugar Level):
हींग के एंटी-डायबिटक तत्व शरीर में ब्लड शुगर का लेवल कम कर देते हैं। हींग इंसुलिन (Insulin) को छिपाने के लिए अग्नाशय की कोशिकाओं को उत्तेजित करती है जिससे ब्लड शुगर लेवल घटता है।

Post source : Article By Dr. Pradeep Banerjee

Related posts

Leave a Reply

Content Protector Developer Fantastic Plugins
%d bloggers like this: